Thursday, December 13, 2012

विदाई गुडिया की ... सतीश सक्सेना

२४ अगस्त ८५ को जन्मी गुडिया ने, २४ नवम्बर १२ को, अपने जीवन साथी के साथ, नया घर बसाने , अपना घर छोड़ कर, विदाई ली !
इन आंसुओं को क्या कहें, ख़ुशी के या अपनी लाडली के जाने के गम के !!!!

गुडिया की विदाई पर,हमारे अमेरिकन मेहमान  विश्वयात्री एडम  ने, हमारे छलके आंसुओं से आहत होकर कहा था ....

"why sad ending of a such beautiful function ? "

मैं इस प्रश्न का जवाब उसे अभी तक नहीं दे पाया हूँ ......
आज  गिरिजा कुलश्रेष्ठ का कमेंट्स, फिर आंसू छलका गया ...

बीतें तेरे जीवन की घड़ियाँ 
आराम की ठंडी छांवो में 
काँटा भी न चुभने पाए तेरे
मेरी लाडली तेरे पांओं  में ...
  
जाओ बेटा , मुझे यकीन है कि तुम्हारा नया घोंसला, तुम्हे तुम्हारे पिता और भाई की याद नहीं आने देगा ....
और हम यही चाहते हैं !!!

83 comments:

  1. बिटिया को शुभकामनाएं ....।

    ReplyDelete
  2. गुड़िया अपने घर गई। हर माता-पिता का यह सब से बड़ा सपना होता है जब बेटी अपने घर जाए। पर अक्सर उन्हें पराए घर जाना पड़ता है। पर गुड़िया का यह सपना पूरा हुआ। गुड़िया को नया घर बसाने की बहुत बहुत बधाइयाँ।

    ReplyDelete
  3. बिटिया को शुभकमनाएं .... यही समाज की रीत है ....

    ReplyDelete
  4. बहुत बहुत बधाई सतीश जी
    और बिटिया को अनंत शुभकामनाएं
    अल्लाह उन दोनों को एक लंबी और ख़ुशहाल ज़िंदगी अता करे (आमीन)

    ReplyDelete
  5. हार्दिक आशीष और शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  6. ख़ुशी और गम दोनों ही साथ रहते हैं सदा ,यहाँ भी यही है !!!
    बेटी के लिए ख़ुशी और आशीर्वाद है तो उसके दूर जाने का गम भी ......बेटी के लिए भी ऐसा ही होता है इस वक्त !!!

    ReplyDelete
  7. जीवन के नए पन्ने पर खुशियाँ ही खुशिया अंकित हो गुडिया के। शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  8. बस यही ऐसा समय होता है जब इंसान कुछ नहीं कह पाता।

    ReplyDelete
  9. बढ़िया प्रस्तुति !

    ReplyDelete
  10. भाई सतीश जी बिटिया को मेरी भी शुभ और मंगल कामनाएं |

    ReplyDelete
  11. हार्दिक शुभकामनाएं.

    ReplyDelete
  12. बिटिया को शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  13. हार्दिक शुभकामनाएं....:)

    ReplyDelete
  14. हाँ ये आंसू ही हमारे अपने होते हैं, हर दुःख मैं और हर खुशी में छलक उठते हैं

    परिवार को शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  15. हार्दिक शुभकामनायें .....

    ReplyDelete
  16. इन पलों के बीच

    एक भाव
    शुभकामना का
    साथ-साथ चलता है ...

    ReplyDelete
  17. अनन्त शुभकामनाएं उसके सुखमय जीवन के लिए………

    ReplyDelete
  18. कुछ पौधों को एक समय तक एक आँगन में लगाए रखने के बाद दूसरे आँगन में लगाया जाता है, ताकि वह पौधा वृक्ष बन सके. एक बाबुल के लिए कन्यादान सबसे बड़ा पुण्य होता है.
    और मैंने तो आपके परिवार को देखा है और उसमें समबन्धों की बुनावट भी देखी है!! परमात्मा आपके खुशियों के आंसू बनाए रखे और बिटिया की बगिया में सदा प्यार, सुख और समृद्धि की खुशबू बनाए रखे!
    बधाई!!

    ReplyDelete
  19. कुछ पौधों के एक आँगन से निकाल कर दूसरे आँगन में लगाया जाता है ताकि वो वृक्ष बन सकें... एक बाबुल के लिए यह पल चिरप्रतीक्षित पल होता है.. कन्यादान की घड़ी..
    परमात्मा आपके खुशियों के आंसू समेटे रखे और बिटिया के जीवन में सदा प्रेम, सुख और समृद्धि बनाए रखे!!

    ReplyDelete
  20. ढेर सारी शुभकामनाएँ................
    बहुत बहुत बधाई!!

    सादर
    अनु

    ReplyDelete
  21. बिटिया का घर से विदा करना वास्तव में बहुत कठिन होता है, लेकिन वह अपने घर में खुश रहे यह ही सबसे बड़ी सांत्वना होती है...बिटिया को हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  22. बिटिया को शुभकामनाएँ...आप सबको बहुत बहुत बधाई ...

    ReplyDelete
  23. दोनों परिवारों को बहुत बहुत बधाई।
    ख़ुशी के साथ थोड़ा दुःख भी -- बिटिया की शादी इसका एक अद्भुत मिश्रण होता है।
    शुभकामनायें बिटिया को।

    ReplyDelete
  24. दोनों परिवारों को हार्दिक मंगलकामनायें।

    ReplyDelete
  25. हमारी ओर से ढेर सारी मंगलकामनाएँ!

    ReplyDelete
  26. ढेरों ढेरों शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  27. बिटिया को ढेर सारी मंगलकामनाएँ!..मेरी नई पोस्ट "दर्द का रिश्ता" पर पधारे..

    ReplyDelete
  28. बहुत सारी मंगलकामनाएँ नव दम्पति को उनके सुखद भविष्य के लिये. सतीश जी आपको भी बधाइयाँ इस कन्यादान के लिये क्योंकि सबसे बड़ा दान तो यही कहलाता है.

    ReplyDelete
  29. बिटिया को असीम स्नेह और आशीर्वाद, और आपको अपनी जिम्मेदारी सफलतापूर्वक निभाने के लिए बधाई !

    ReplyDelete
  30. आपकी इस उत्कृष्ट प्रविष्टि की चर्चा 14/12/12,कल के चर्चा मंच पर राजेश कुमारी द्वारा की जायेगी आपका हार्दिक स्वागत है

    ReplyDelete
  31. बहुत बहुत बधाई सतीश जी,
    बिटिया को वैवाहिक जीवन की
    हार्दिक शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  32. पूरे परिवार को ढेरों शुभकामनाएँ !!
    बिटिया अपने ससुराल में सम्मानपूर्वक रहे...शुभाशीष !!

    ReplyDelete
  33. बिटिया को ढेर सारी मंगलकामनाएँ!......

    ReplyDelete
  34. मेरी ओर से असीम स्नेह और आशीर्वाद,,,,,,

    recent post हमको रखवालो ने लूटा

    ReplyDelete
  35. नवयुगल को शुभकामनायें, सानंद उन्हें आशीर्वाद दें।

    ReplyDelete
  36. बीतें तेरे जीवन की घड़ियाँ
    आराम की ठंडी छांवो में
    काँटा भी न चुभने पाए तेरे
    मेरी लाडली तेरे पांओं में ...

    असीम स्नेह और आशीर्वाद

    ReplyDelete
  37. बिटिया को नये जीवन में प्रवेश पर अनन्त शुभकामनायें..आशीर्वाद.

    ReplyDelete
  38. साडा चिड़िया दा चंबा वे,
    बाबुल असा टुर जाणा,
    साडी लंबी उडारी वे,
    असा केड़े देस जाणा...

    बिटियाएं दिल से बाहर कभी नहीं जातीं...

    जय हिंद...

    ReplyDelete
  39. पता नहीं यह रीत बनायी किसने, मगर बनी है तो निभाना तो पड़ेगी ही....नवयुगल के साथ साथ आपको भी बिटिया के नए जीवन में प्रवेश हेतु हार्दिक शुभकामनायें ....

    ReplyDelete
  40. बहुत-बहुत बधाई दोनो परिवारों को ,
    बेटी का सुख-सौभाग्य चिरायु हो !

    ReplyDelete
  41. betiyan sab ki saanjhli hoti hai...betiyon ko kisi prakar ka koi kasht nahi ho....sada uske liye yahi kaamna rahegi.

    ReplyDelete
  42. betiyan sab ki saanjhi hoti hain. aur kisi bhi beti ko koi kasht n ho yahi dili kaamna rahti hai. duao k sath..

    ReplyDelete
  43. बिटिया को हार्दिक शुभकामनाएं आपको भी बधाई

    ReplyDelete
  44. ढेरों शुभकामनाएँ !!

    ReplyDelete
  45. दोनों परिवारों को हार्दिक शुभकामनाएँ !!

    ReplyDelete
  46. paripoorn rahen....paritript rahen......yahi kamna hai.

    ReplyDelete
  47. बिटिया को सुखमय वैवाहिक जीवन का स्नेहाशीष !

    ReplyDelete
  48. बिटिया को अनन्त शुभकामनाएं उसके सुखमय दाम्पत्य जीवन के लिए

    ReplyDelete
  49. bitiya ke sukhmay vaivahik jeevan ke liye shubhkamnaye...

    ReplyDelete
  50. आपकी बिटिया को बहुत बहुत शुभकामनायें |

    ReplyDelete
  51. आशीष, शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  52. एडम यात्री हैं उनका प्रश्न स्वाभाविक है। हम ठहरे, मोह जाल में लिप्त गृहस्थ, हमारा दर्द स्वाभाविक है। विदेह जब अपने आँसू नहीं रोक पाये तो हमारी क्या बिसात!

    बिटिया को ढेर सारी शुभकामनाएँ..जुगल जोड़ी पर भोले बाबा की कृपा सदैव बनी रहे।

    ReplyDelete
  53. गुड़िया अपने घर के आँगन में रंगोली सजाने के साथ-साथ अपने मायके में भी रंग-गुलाल उड़ाती रहे ..आप सबों को शुभकामनाएं..

    ReplyDelete
  54. बिटिया को बहुत आशीष और शुभकामनाएं -

    ReplyDelete
  55. .
    .
    .
    नवयुगल को शुभकामनायें!


    ...

    ReplyDelete
  56. नवविवाहित जोड़े को ढेरों शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  57. bitiya to nahee rah patee
    hamare sang naa
    khiltee hamaree bagiya
    mahkaae doosara angana !

    ye hee jag kee reet hai.....
    gudiya sada khush rahe aur apno ko khush rakhe isee aasheesh ke sath shubhkamnae

    ReplyDelete
  58. नव जीवन की शुरुआत के लिए बिटिया को बहुत बहुत शुभकामनायें ...
    बेटी घर का गहना है, घर की धडकन है ... जिसके जाने के बाद उदासी होना स्वाभाविक है ...

    ReplyDelete
  59. बिटिया को नवजीवन में प्रवेश के साथ संसार की सारी खुशियाँ मिलें मेरी यही दुआ है

    ReplyDelete
  60. बिटिया के विवाह की बधाई और नव दंपति को ढेर सी शुभकामनाएं।

    ReplyDelete



  61. **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~
    ¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤
    आदरणीय सतीश जी भाईसा'ब
    सर्वप्रथम तो रानी बेटी के विवाह की आप सभी परिवारजनों को
    *हार्दिक बधाई !*
    **शुभकामनाएं !**
    ***मंगलकामनाएं !***


    …और
    बिटिया को बहुत बहुत आशीर्वाद !

    राजेन्द्र स्वर्णकार
    ¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤¤
    ~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^~^
    **♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**♥**

    ReplyDelete



  62. एडम के प्रश्न का जवाब किसी के पास नहीं …

    हां , हम भारतीयों की प्रगाढ पारिवारिक परंपरा और रिश्तों के प्रति संवेदनशीलता के साथ मानवमात्र के साथ जुड़ाव , लगाव , स्नेह की भावना में उत्तर ढूंढ़ा अवश्य जा सकता है …
    हम पाले हुए पशु को भी स्वयं से दूर नहीं कर पाते …

    एक और भाव भरी प्रविष्टि के लिए आभार !


    शुभकामनाओं सहित…
    राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  63. बिटिया को नया जीवन शुरू करने के लिये हार्दिक शुभकामनाएं. आप दिल छोटा ना करें, बिटिया हमेशा दिल में बसी रहेगी...सामाजिक दायित्व निबाहने हेतु अपने ससुराल गई है पर दिल में तो बसी रहेगी, हार्दिक शुभकामनाएं.

    रामराम

    ReplyDelete
  64. बिटिया को शुभकामनाएं!!

    ReplyDelete
  65. हार्दिक शुभ कामनाये ...एक बाप के लिए इससे बड़ी कोई ख़ुशी नहीं होती ...

    ReplyDelete
  66. आगामी जीवन के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं।।

    ReplyDelete
  67. नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ... आशा है नया वर्ष न्याय वर्ष नव युग के रूप में जाना जायेगा।

    ब्लॉग: गुलाबी कोंपलें - जाते रहना...

    ReplyDelete
  68. दिन तीन सौ पैसठ साल के,
    यों ऐसे निकल गए,
    मुट्ठी में बंद कुछ रेत-कण,
    ज्यों कहीं फिसल गए।
    कुछ आनंद, उमंग,उल्लास तो
    कुछ आकुल,विकल गए।
    दिन तीन सौ पैसठ साल के,
    यों ऐसे निकल गए।।
    शुभकामनाये और मंगलमय नववर्ष की दुआ !
    इस उम्मीद और आशा के साथ कि

    ऐसा होवे नए साल में,
    मिले न काला कहीं दाल में,
    जंगलराज ख़त्म हो जाए,
    गद्हे न घूमें शेर खाल में।

    दीप प्रज्वलित हो बुद्धि-ज्ञान का,
    प्राबल्य विनाश हो अभिमान का,
    बैठा न हो उलूक डाल-ड़ाल में,
    ऐसा होवे नए साल में।

    Wishing you all a very Happy & Prosperous New Year.

    May the year ahead be filled Good Health, Happiness and Peace !!!

    ReplyDelete
  69. नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  70. बाबुल की दुआएं लेती जा
    जा तुझको सुखी संसार मिले
    मैके की कभी न याद आये
    ससुराल में इतना प्यार मिले ...!!

    ReplyDelete
  71. बधाई और शुभकामनाएं, सतीश जी।

    ReplyDelete
  72. देर से आने के लिए क्षमा ! असल में मैं ज़्यादा online ही नहीं आ पाई !
    बिटिया को ढेर सारी स्नेहभरी शुभकामनाएँ ! ईश्वर उसे सदैव सुखी रखें ! ससुराल में उसे मायके जैसा प्यार-दुलार मिले -यही दुआ है !:)
    ~सादर !!!

    ReplyDelete
  73. गुरु भाई ...बधाई देर से ही सही ...बिटिया के साथ दुआएँ तो हमेशा साथ ही हैं !
    सुखी जीवन के लिए ...
    बहुत सारी शुभकामनायें !

    ReplyDelete


  74. ✿♥❀♥❁•*¨✿❀❁•*¨✫♥
    ♥ सादर वंदे मातरम् ! ♥
    ♥✫¨*•❁❀✿¨*•❁♥❀♥✿


    क्या बात है आदरणीय भाई साहब सतीश सक्सेना जी ?

    नई रचना लगाए हुए बहुत समय हो गया है …
    कितने चक्कर लगा चुका हूं ताज़ा गीत-कविता की चाह में !
    अजी ! हमें ही नहीं , आपकी प्रतीक्षा सारे हिंदी ब्लॉगजगत को है …
    :)
    आशा है सपरिवार स्वस्थ सानंद हैं ।


    हार्दिक मंगलकामनाएं …
    लोहड़ी एवं मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर !

    राजेन्द्र स्वर्णकार
    ✿◥◤✿✿◥◤✿◥◤✿✿◥◤✿◥◤✿✿◥◤✿◥◤✿✿◥◤✿

    ReplyDelete
  75. लोहड़ी, मकर संक्रांति और माघ बिहू की शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  76. एक कठिन घडी होती है माँ बाप के लिए लेकिन दस्तूर यही है .......
    सुखी जीवन के लिए बेटियां को मेरा आशीष कहिये ..सादर

    ReplyDelete
  77. देर से ही सही
    नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें!
    आपकी बिटिया को बहुत बहुत शुभकामनायें |

    ReplyDelete
  78. आदरणीय सतीशजी ,बेटी की विदाई सचमुच वेदनामय होती है लेकिन यह गर्व और प्रसन्नता भी कि उसके जीवन को एक पूर्णता मिलेगी तथा आपको एक सन्तुष्टि । छोटे बेटे मयंक का विवाह भी 24 नवम्बर को ही सम्पन्न हुआ और मैं इधर नही आ सकी । बेटी को मेरी असीम शुभकामनाएं

    ReplyDelete
  79. सुखी जीवन के लिए बिटिया को बहुत बहुत शुभकामनायें, आशीष !

    ReplyDelete

एक निवेदन !
आपके दिए गए कमेंट्स बेहद महत्वपूर्ण हो सकते हैं, कई बार पोस्ट से बेहतर जागरूक पाठकों के कमेंट्स लगते हैं,प्रतिक्रिया देते समय कृपया ध्यान रखें कि जो आप लिख रहे हैं, उसमें बेहद शक्ति होती है,लोग अपनी अपनी श्रद्धा अनुसार पढेंगे, और तदनुसार आचरण भी कर सकते हैं , अतः आवश्यकता है कि आप नाज़ुक विषयों पर, प्रतिक्रिया देते समय, लेखन को पढ़ अवश्य लें और आपकी प्रतिक्रिया समाज व देश के लिए ईमानदार हो, यही आशा है !


- सतीश सक्सेना

Related Posts Plugin for Blogger,