Friday, April 12, 2019

आजादी का नाम कन्हैया जीतेगा -सतीश सक्सेना

घर घर से आवाज कन्हैया जीतेगा !
कौओं में परवाज़ ,कन्हैया जीतेगा !

बुलेट ट्रेन,स्मार्ट सिटी के झांसों में 
फंदे काट तमाम,कन्हैया जीतेगा !

नहले दहले, अंतिम  ठठ्ठा मार रहे
मक्कारों पर गाज़,कन्हैया जीतेगा !

भारत मां घायल है ,इन गद्दारों  से , 
जनमन लेके साथ,कन्हैया जीतेगा !

लोकतंत्र स्तम्भ बहुत , बर्बाद हुए , 
आजादी का नाम कन्हैया जीतेगा !

धोखा,झूठ,छलावा,भले मुखातिब हों,
है सच की आवाज,कन्हैया जीतेगा।

7 comments:

  1. वाह क्या बात है जियो।

    सत्ता के दलालों का होगा नाश कन्हैया जीतेगा :)

    ReplyDelete
  2. आपकी ब्लॉग पोस्ट को आज की ब्लॉग बुलेटिन प्रस्तुति 102वां जन्म दिवस : वीनू मांकड़ और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान जरूर बढ़ाएँ। सादर ... अभिनन्दन।।

    ReplyDelete
  3. chunavi mausam ki kavita

    ReplyDelete
  4. https://jaagosonewalo.blogspot.com/2019/04/blog-post.html?fbclid=IwAR1fikOlVyyJJPuhZ8QxYAv826hm5C36VnxE_zn6Oa3bKK0lGTiktdDW9cc

    ReplyDelete
    Replies
    1. जहाँ एक और कन्हैया पर राजद्रोह का आरोप है वहीँ दूसरी और लोगों का कहना है कि यह राजनीति द्वारा फैलाया भ्रम है , मामला कोर्ट में है जहाँ से कन्हैया के इस मामले को हल्का माना गया है अन्यथा उसे जमानत न मिलती !
      बहार हाल कन्हैया के ऊपर आरोप सत्य पाए गए तब मुझे दुःख होगा अपने विश्वास पर , और पश्चाताप भी !
      मैं आँख बंदकर किसी आरोप को स्वीकार कभी नहीं करता , और न उन मित्रों जैसा हूँ जो मतभिन्नता देख मित्रता का त्याग करें , मगर मुझे ख़ुशी होगी अगर ऐसे मित्र जिन्हें मैं बेहद प्यार करता हूँ अगर मतभिन्नता के कारण मेरी मित्रता समाप्त करते हैं तो ! आशा है वे अपने परिवार में भी मतभिन्नता होने पर यही रूप अपनाएंगे !
      सस्नेह आप सबको मंगलकामनाएं !

      Delete
    2. भगवान के ऐजेंटों की टिप्पणियाँ। कहाँ जा रहे हैं हम। शर्म आती है।

      Delete

एक निवेदन !
आपके दिए गए कमेंट्स बेहद महत्वपूर्ण हो सकते हैं, कई बार पोस्ट से बेहतर जागरूक पाठकों के कमेंट्स लगते हैं,प्रतिक्रिया देते समय कृपया ध्यान रखें कि जो आप लिख रहे हैं, उसमें बेहद शक्ति होती है,लोग अपनी अपनी श्रद्धा अनुसार पढेंगे, और तदनुसार आचरण भी कर सकते हैं , अतः आवश्यकता है कि आप नाज़ुक विषयों पर, प्रतिक्रिया देते समय, लेखन को पढ़ अवश्य लें और आपकी प्रतिक्रिया समाज व देश के लिए ईमानदार हो, यही आशा है !


- सतीश सक्सेना

Related Posts Plugin for Blogger,