Thursday, October 15, 2020

कोरोना वारियर डॉ पंकज कुमार , के लिए दुआ करें -सतीश सक्सेना

ONGC हेडक्वार्टर दिल्ली में मेडिकल सर्विसेज के इंचार्ज , डॉ पंकज कुमार (MBBS MS) जून के पहले सप्ताह से अपोलो हॉस्पिटल , सरिता विहार , दिल्ली में कोरोना से जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे हैं , आज लगभग ५ माह होने को आये , वे लगातार आई सी यू में ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं , जब भी मास्क हटाया जाता है उनका ऑक्सीजन लेवल डाउन होते हुए खतरे के लेवल से नीचे पंहुच जाता है ! 

डॉ पंकज कुमार बेहतरीन इंसान हैं , फेफड़ों उनके पहले से ही कमजोर हैं यह जानते हुए भी उन्होंने कोरोना कॉल में , लगातार ऑफिस जाते हुए ,अपनी जान खतरे में डालकर , रोगियों की देखभाल करते रहे , उन्हें पता था कि संक्रमण होने की स्थिति में उनके फेफड़े उनका साथ नहीं देंगे फिर भी वे घर वालों की बात न मानकर लगातार अपनी ड्यूटी पर जाते रहे और अंततः उन्हें कोरोना से लड़ने का मुआवजा भुगतना पड़ा !

पंकज उन डॉ में से एक हैं जिन्होंने बिना अपनी सेहत और परिवार की परवाह किये , हमेशा अपनी जिम्मेवारियों को अधिक तरजीह दी , रात रात भर जगकर दोस्तों की सेवा की , आज वे अपने जीवन की सबसे बड़ी लड़ाई लड़ रहे हैं ! मैं भगवान पर भरोसा नहीं करता मगर आज मैं भी उनके दरबार में बैठा हूँ कि अगर सच्चे हो तो अपने इस भक्त की रक्षा करो , उसने तो तुम्हारी बहुत पूजा की है !

पंकज उन डॉक्टर्स में से एक हैं जिन्होंने मानवता को बचाकर रखा और धन को कभी महत्व नहीं दिया , मुझे याद है एक मशहूर नर्सिंग होम से नौकरी रिजाइन सिर्फ इसलिए करना पड़ा था , क्योंकि उन्होंने एक वृद्धा के मामूली पेटदर्द को बिना ऑपरेट किये एक गोली देकर ठीक कर दिया था !

पंकज का मुझ से खून का कोई रिश्ता नहीं है मगर उन्होंने मुझे पिछले २५ वर्ष से बड़े भाई का दर्जा दिया है , उस नाते मैं अपने समस्त मित्रों से अपील करता हूँ कि इस ईमानदार कोरोना वॉरिअर की रक्षा के लिए कुछ उपाय करें !

कितने कष्ट सहे जीवन में
तुमसे कभी न मिलने आया
कितनी बार जला अग्नि में
फिर भी मस्तक नही झुकाया
पहली बार किसी मंदिर में
मैं भी , श्रद्धा लेकर आया !
आज तेरी सामर्थ्य देखने ,
तेरे द्वार बिलखने आया !
आज किसी की रक्षा करने,साईं तुझे मनाने आया !

9 comments:

  1. जी नमस्ते,
    आपकी लिखी रचना शुक्रवार १६ अक्टूबर २०२० के लिए साझा की गयी है
    पांच लिंकों का आनंद पर...
    आप भी सादर आमंत्रित हैं...धन्यवाद।

    ReplyDelete
  2. हमारी दुआएं डा० पंकज कुमार के साथ हैं। गणपति रक्षा करेंगे विश्वास है।

    ReplyDelete
  3. साईं तुझे मनाने आया !
    मगर तू सुनता कहाँ
    तुझ से तेरी शिकायत करने
    तेरे दर पर आया

    ReplyDelete
  4. डॉ. पंकज कुमार जैसे लोगों को ठीक होना ही चाहिये -यही मना रही हूँ .पूरा विश्वास है कि वे स्वस्थ हो होकर पुनः लम्बा नार्मल जीवन पाएँगे .

    ReplyDelete
  5. कितने कष्ट सहे जीवन में
    तुमसे कभी न मिलने आया
    कितनी बार जला अग्नि में
    फिर भी मस्तक नही झुकाया
    पहली बार किसी मंदिर में
    मैं भी , श्रद्धा लेकर आया !
    आज तेरी सामर्थ्य देखने ,
    तेरे द्वार बिलखने आया !
    आज किसी की रक्षा करने,साईं तुझे मनाने आया !

    🙏🙏🙏

    ReplyDelete
  6. कितने कष्ट सहे जीवन में
    तुमसे कभी न मिलने आया
    कितनी बार जला अग्नि में
    फिर भी मस्तक नही झुकाया
    पहली बार किसी मंदिर में
    मैं भी , श्रद्धा लेकर आया !
    आज तेरी सामर्थ्य देखने ,
    तेरे द्वार बिलखने आया !
    आज किसी की रक्षा करने,साईं तुझे मनाने आया !

    🙏🙏🙏

    ReplyDelete
  7. भगवान डॉ. पंकज कुमारजी को शीघ्र स्वास्थ्य लाभ दे। ऐसे परोपकारी सज्जनों की आवश्यकता है संसार को।

    ReplyDelete
  8. हमारी दुआएं उनके स्वस्थ्य के लिए

    ReplyDelete
  9. डॉ. पंकज जैसे इंसान की समाज में बहुत ज़रूरत है. वे शीघ्र स्वस्थ हों, यही कामना है.

    ReplyDelete

एक निवेदन !
आपके दिए गए कमेंट्स बेहद महत्वपूर्ण हो सकते हैं, कई बार पोस्ट से बेहतर जागरूक पाठकों के कमेंट्स लगते हैं,प्रतिक्रिया देते समय कृपया ध्यान रखें कि जो आप लिख रहे हैं, उसमें बेहद शक्ति होती है,लोग अपनी अपनी श्रद्धा अनुसार पढेंगे, और तदनुसार आचरण भी कर सकते हैं , अतः आवश्यकता है कि आप नाज़ुक विषयों पर, प्रतिक्रिया देते समय, लेखन को पढ़ अवश्य लें और आपकी प्रतिक्रिया समाज व देश के लिए ईमानदार हो, यही आशा है !


- सतीश सक्सेना

Related Posts Plugin for Blogger,