Thursday, June 28, 2012

गीता हरिदास -सतीश सक्सेना

कुछ दोस्त , रिश्तेदारों से भी बढ़कर होते हैं , जिनसे आप अपना कोई भी खुशी और दुख बाँट सकते हैं , इन मित्रों के लिए एक बार लिखा यह गीत याद आ गया !
धोखे की इस दुनियां में  ,
कुछ  प्यारे बन्दे रहते हैं !
ऊपर से साधारण लगते
कुछ दिलवाले रहते हैं  !
दोनों  हाथ  सहारा देते ,  जब भी ज़ख़्मी देखे गीत  !
अगर न ऐसे कंधे मिलते,कहाँ सिसकते मेरे गीत  !


हरिदास परिवार, मेरे जीवन के संकलित मोतियों में से एक हैं , जिन्हें मैं बहुत प्यार करता हूँ ! बहुत बुरे समय में, जो मित्र मुझे घेरे रहे उनमें हरिदास और गीता भाभी हमेशा साथ रहे  ! कैबिनेट सचिवालय में वरिष्ठ अधिकारी,  पोस्ट पर कार्यरत हरिदास से जब मैं पहली बार मिला था तो वे एक टफ व्यक्तित्व लगे थे , मगर थोड़े समय में ही इनकी सौम्यता और सरल स्वभाव ने दिल जीत लिया ! 30  मई 2012 को हरिदास, सक्रिय सेवा से रिटायर होकर अपने सरकारी मकान को छोड़ने की तैयारी ही कर रहे थे कि  7जून को गीता भाभी के ब्रेस्ट  बायोप्सी टेस्ट में कैंसर की पुष्टि हुई है ! उस दिन पहली बार मैंने हरिदास की मज़बूत आवाज में कंपन महसूस किया था !


Dr Geeta Kadayaprath 9810169286
उसके बाद शुरू हुआ , मित्रों की सहानुभूति और अस्पतालों की  दौड़धूप करते हरिदास अपना खाना पीना तक भूल गए ! अकेले में जब भी वे मेरे साथ होते, उनके आँखों की कोरों में आंसू साफ़ नज़र आते थे मगर गीता भाभी के चेहरे  पर तनाव कभी नहीं देखा ! हरिदास के कष्ट में चिंतित रहती वे, अपने भरपूर आत्मविश्वास के साथ कहती थी कि मुझे कुछ नहीं होगा !


२५ जून २०१२ को , मैक्स हॉस्पिटल, साकेत में डॉ हरित चतुर्वेदी और डॉ गीता कदायाप्रथ की अनुभवी टीम द्वारा, ५  घंटे तक चले सफल आपरेशन के बाद, जब मैंने अस्पताल पंहुचकर उनके ठन्डे हाथ पकडे, तब भी उनकी आँखों में वही मुस्कान देखी, जैसा उन्होंने मुझे वायदा किया था ! उनको हमेशा हिम्मत बंधाने वाला मैं, अपने आपको कमजोर पा रहा था मगर इस महिला ने बहादुरी की, जो मिसाल कायम  की, वह अद्वितीय थी ! 
इस ऑपरेशन में हरिदास परिवार का भरोसा, आपरेशन के समय , डॉ  गीता (कैंसर कंसल्टेंट ) की उपस्थिति पर था ! बेहद प्रभावशाली व्यक्तित्व की मालकिन  डॉ गीता, लेडी हार्डिंग मेडिकल कालेज से एम् बी बी एस , एम् एस एवं ग्लासगो (यू के) से एफ आर सी एस , यह कैंसर स्पेशलिस्ट डॉक्टर, राजीव गाँधी कैंसर अस्पताल दिल्ली, में कैंसर कंसल्टेंट रह चुकी हैं और ब्रेस्ट आपरेशन में सिद्धहस्त हैं !
मधुर मुस्कान के साथ अपने बीमार को हौसला देती यह लेडी डाक्टर इस सफल ऑपरेशन की निश्चित हकदार हैं ! 
महिलाओं में समस्त कैंसरों में, लगभग 30 % कैंसर, ब्रेस्ट  से सम्बंधित होते हैं !  ४० वर्ष या उससे ऊपर की महिलाओं में बगल अथवा स्तन में गांठ या सूजन जैसे लक्षणों पर तत्काल टेस्ट करवाना चाहिए, अफ़सोस है कि अक्सर महिलायें, यह कदम बहुत देर होने पर उठाती हैं ! 


कल जब उनसे मिलने गया तो मैंने उनसे कहा कि मैं आपके साथ एक फोटो खिंचाना चाहता हूँ ताकि अपने पाठकों को आपसे परिचय करा सकूं , मगर उसके लिए बैठना पड़ेगा , चूंकि यह मेरे साथ आपकी पहली फोटो होगी अतः हँसते हुए खिंचवानी होगी !  दर्द में कराहते हुए, ऊपर उठाये दोनों हाथ , घायल सीने और बगल  के साथ, उन्होंने जो फोटो खिंचवाई इसे मैं अपनी अब तक खींची गयी , सबसे यादगार फोटो मानता हूँ !
इस पोस्ट को लिखने का उद्देश्य गीता भाभी की निडरता के साथ, एक पति हरिदास की तकलीफ से, पाठकों का परिचय करना था ! 
सीधा साधा यह जोड़ा जुग जुग जिए यही मंगल कामना है ! 

116 comments:

  1. सही कहा आपने दोस्त रिश्तेदारों से बढ़ कर होते हैं.. बहुत ही मर्मस्पर्शी लिखा है है आपने.. महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर के प्रति जागरूक होना पड़ेगा... आपकी पोस्ट दिल को छू गई..

    ReplyDelete
  2. आपके मित्र और उनकी पत्नी गीता जी को मेरी हार्दिक शुभकामनायें .... भले ही शल्य चिकित्सा का दर्द सह रही हों लेकिन चेहरे की हंसी उनको एक विजेता घोषित कर रही है ... अपने मित्र और उनके परिवार से परिचय कराने हेतु आभार ।

    ReplyDelete
  3. सतीश जी हरिदास जी और गीता जी से परिचित होकर अच्छा लग रहा है. हमारी शुभकामनाएं प्रेषित करें. आशा है वे विजेता होकर लौटेंगी घर....

    ReplyDelete
  4. मर्मस्पर्शी ।

    शुभकामनायें ।।

    ReplyDelete
  5. ब्रेस्ट कैंसर जितना जल्दी डायग्नोज हो जाये , सफल इलाज की सम्भावना उतनी ज्यादा रहती है . इसमें व्यक्ति विशेष की इच्छा शक्ति भी बहुत सहायक सिद्ध होती है .
    आपकी सहृदयता को सलाम . जिंदगी वही जो किसी के काम आए .
    वर्ना अपने स्वार्थ में तो सभी लगे हैं .
    आपके मित्र और गीता जी को शुभकामनायें .

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया डॉ दराल,
      हो सके तो कैंसर ऑपरेशन के बाद के इलाज पर प्रकाश डालें, बहुतों का भला होगा !
      लोगों को इस विषय पर बात भी नहीं करते सुना जाता, केवल परिवार में कैंसर होने की स्थिति में ही चर्चा की जाती है !
      जानकारी का अभाव और भय इस भयानक बिमारी को मारक बनाने में कामयाब है !

      Delete
    2. सतीश जी , कोशिश करता हूँ जल्दी ही इस विषय पर एक पोस्ट लिखने की .

      Delete
    3. Thank you very much Dr. Daral. Sorry for the late response, being busy taking care of the patient full time

      Delete
  6. गीता जी की आत्मशक्ति , उनकी जीवनदायिनी मुस्कान अनुकरणीय है ...बहुत बहुत शुक्रिया उनसे मिलाने का . हरिदास जी की परेशानियों को , और उन परेशानियों में भी खुद का सहज बनाये रखने को समझ सकती हूँ ... ऐसी ही बातें हमें हौसला देती हैं

    ReplyDelete
    Replies
    1. मुझे लगता है कई बार दवा से अधिक, जीने की इच्छा शक्ति काम करती है ! प्रबल आत्मविश्वास मरीज को मौत के मुंह से बापस ला सकता है !

      Delete
  7. ऐसे दोस्त मुश्किल से मिलते हैं...गीता जी को शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  8. मित्र हमारे वे रिश्ते होते हैं जिनका चयन हम खुद करते हैं. और बेहद भाग्यशाली होते हैं वे जो सही चयन कर पाते हैं.आप निश्चित तौर पर उनमें से एक हैं.
    आप सभी को सलाम.

    ReplyDelete
  9. अद्वितीय जीवट भरी सन्नारी को सलाम!! और आपके मित्र हरिदास जी को भी!!

    ReplyDelete
  10. आपकी यह प्रस्‍तुति मन को छू गई ... अनंत शुभकामनाओं के साथ बधाई

    ReplyDelete
  11. गीता हरिदास जी शीघ्र स्वस्थ हो,,,,मेरी बहुत२ शुभकामनाए,,,,,

    MY RECENT POST काव्यान्जलि ...: बहुत बहुत आभार ,,

    ReplyDelete
  12. सतीश भाई...कहते हैं दोस्ती एक जैसे लोगों के साथ होती है। आपके साथ यह बात बिलकुल खरी उतरती है। आपके मित्र भी आप ही की तरह लग रहे हैं। दर्द चेहरे पर नज़र नही आ रहा बस पोस्ट पढ़कर महसूस किया जा सकता है। इश्वर उन्हे जल्दी से स्वस्थ कर दें बस यही मनोकामना है।
    सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. अच्छा लगा सुनीता जी, आभार आपका !

      Delete
  13. पोस्ट पढ़ते वक्त दिल धड़क रहा था मगर आपने खुशखबरी सुनायी -जल्दी ही गीता जी पूर्ण स्वस्थ हो जाएँ -यही कामना है!
    भारत में ही नहीं दुनियाभर में ब्रेस्ट कैंसर के केस बढ़ रहे हैं -आरंभिक अवस्था -डेंस ब्रेस्ट टिश्यू स्टेज पर डायिग्नोज होने पर सर्जरी पूरी तरह कारगर रहती है !

    ReplyDelete
  14. गीता जी के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए मेरी हार्दिक शुभकामनाएँ !

    ReplyDelete
  15. Geeta ji ko meri shubh-kamnayen ... aapki prastuti ke liye aabhaar ... saral dil waalo ko sacche dost mil jaate hain ...

    ReplyDelete
  16. geeta jee ke sath meri hardik shubhakamanayen hai. ve shighra svasya hokar ek smanya jeevan jiyenge aur aap sabke beech vaise hi hansati hui najar aayengi.

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया रेखा जी ..

      Delete
    2. Members of family join me to tkank you

      Delete
  17. JINKE HON AISE ARMAN....
    FIR KYON NA KHILE MUSKAN..

    UNKO SUBHKAMNAYEN AUR APKO ABHAR...


    PRANAM.

    (JO BHEJA GAYA O PAHUNCHA NAHI)

    ReplyDelete
  18. काश! ये मुस्कान, ये प्यार, ये दोस्ती सभी के नसीब में हो
    शुभकामनायें

    ReplyDelete
    Replies
    1. अरे दोस्तों के आप हरदिल अजीज हैं अमित...

      Delete
  19. रिश्ते तो बन जाते है लेकिन मित्रों का चुनाव हम अपनी पसंद रूचि के अनुसार करते है !
    बहुत बार अच्छे लोगों को अच्छे मित्र मिल ही जाते है कमसे कम मेरा तो यही अनुभव रहा है
    एक अच्छी मार्मिक पोस्ट और साथ में जागरूक भी करती है ! गीता जी को बहुत बहुत
    शुभकामनायें ........वे जल्द से जल्द स्वस्थ हो !

    ReplyDelete
  20. बहुत अच्छी प्रस्तुति!

    इस प्रविष्टी की चर्चा शुक्रवारीय के चर्चा मंच पर भी होगी!

    सूचनार्थ!

    ReplyDelete
  21. Geeta ji jaldi se tandurasth ho yahi shubhkamnayen hain..
    bahut badiya apnepan se bhari prastuti..

    ReplyDelete
  22. पूर्ण स्वास्थ्य और पूर्ण प्रसन्नता आपके और हरिदासजी के जीवन में लौटे, यही ईश्वर से प्रार्थना है।

    ReplyDelete
  23. दोस्‍तों के बारे में इस तरह से चर्चा करना सचमुच दोस्‍ती को एक नया आयाम देता है। और इसमें कोई शक नहीं कि आपने जो तस्‍वीर ली है वह सचमुच अविस्‍मरणीय रहेगी।

    ReplyDelete
    Replies
    1. यह यादें महत्वपूर्ण हैं राजेश भाई !

      Delete
  24. गीता जी को स्वस्थ जीवन हेतु शुभ-कामनायें! उनका सुखी दाम्पत्य और दोनों परिवारों की यह आदर्श मित्रता अपनी पूरी सुन्दरता के चिर- स्थाई हो !

    ReplyDelete
  25. आलेख के शुरू से ही जो चित्र आपने चित्रित किया था, वही नीचे के फोटो में दिखा।
    इस लेख में आपके गीतों की ख़ुश्बू मिली।
    भगवान इस दम्पति को सदा प्रसन्न रखे।

    ReplyDelete
  26. गीता हरिदास जी शीघ्र स्वस्थ हो,,,,बस यही मनोकामना है।....

    ReplyDelete
  27. शुभकामनाओं सहित आभार इस मर्मस्पर्शी पोस्ट के लिए ....

    ReplyDelete
  28. शुभकामनाएं आप सबको| परिवार, मित्रों का प्यार और अपनापन ऐसे कष्टकारी समय में मनोबल बढाने में सहायक होता है| हालांकि कई बार अनजाने में हम ज्यादा चिंतित दिखकर रोगी को भी कमजोर कर देते हैं, इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए| रोगी के आसपास सकारात्मक माहौल बहुत जरूरी है|

    ReplyDelete
    Replies
    1. सच कह रहे हैं संजय भाई , यह बहुत आवश्यक है ...

      Delete
  29. प्रिय सतीश जी हरिदास भाई और गीता जी को प्रभु स्वस्थ रखते हुए सारी खुशियाँ दें .अच्छी जानकारी और सुन्दर प्रस्तुति ...सच्चे दोस्त मिल जाएँ तो क्या कहने ..जय श्री राधे
    आभार -भ्रमर ५
    भ्रमर का दर्द और दर्पण

    ReplyDelete
  30. गीता जी को पूर्ण स्वास्थ्य के लिये शुभ-कामनायें। हरिदास दम्पत्ति के साथ आप सरीखे मित्र रहें, धन्यवाद!

    ReplyDelete
  31. मज़बूत आवाज में कंपन महसूस किया था !'

    कंपन के बाद ही तो आवाज में मजबूती आती है... गीता हरिदास जी के शीघ्र स्वस्थ्यलाभ की कामना

    ReplyDelete
  32. सतीश भाई ,
    ये पोस्ट बहुत से कारणों के लिए अब ज़ेहन में रहेगी हमारे तो । हरिदास परिवार और आपके बीच के स्नेह और विश्वास के लिए ।

    इस पोस्ट पर हमें उनसे मिलवाने के लिए
    गीता भाभी और डॉ. गीता जी से मिलवाने के लिए
    गीता भाभी के ज़ज़्बे के लिए
    और अंत में आप सबकी इस यादगार फ़ोटो के लिए

    सहेज कर लिए जा रहा हूं । कहीं कहीं साझा करता चलूंगा । मुझे आनंद आएगा

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया अजय भाई ...

      Delete
  33. आपका यह संस्मरण निराश लोगों में हौसला भरता है,अपनों में आत्मविश्वास !गीता-हरिदास के साथ-साथ डॉक्टर गीता का जीवन भी प्रेरणादायक है.

    ....आपका यह कार्य उनको और नई ऊर्जा देगा !

    ReplyDelete
  34. फोटो की निर्मल हंसी बहुत अच्‍छी लग रही है। ऐसी ही मित्रता बनी रहे। शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  35. is dampatti ki khushiyan bani rahe.

    ReplyDelete
  36. thanks. may god bless her and her family.. may she always smile ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. All these blessings will surely keep her smiling for many more years to come

      Delete
  37. गीता हरिदास जी का आत्मविश्वास बना रहे...शुभकामनाएँ !!
    डॉ गीता को सफल इलाज के लिए बधाई और शुभकामनाएँ !!

    ReplyDelete
  38. ईश्वर से कामना है कि गीता जी जल्द ही स्वस्थ हों।

    ReplyDelete
  39. बहुत अच्छी मिसाल है... दाद देते है उनके आत्मविश्वास की. उनकी सेहत जल्द ठीक हो यही कामना.

    ReplyDelete
  40. होता है होता है
    पर कम होता है
    लिकिन जिसमें
    होता है वाकई में
    बहुत दम होता है
    और उस पर आप
    जैसा मित्र काजू
    के ऊपर चाकलेट
    की तरह चढा़ होता है
    खुश रहो और बाटो
    एसा भी कम होता है।

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया सुशील भाई ...

      Delete
    2. आपकी पोस्ट कभी बासी नहीं होती हैं ।

      Delete
  41. आपकी यह पोस्ट अपने तरह की अनूठी है जो एक रोग के प्रति जागरूक भी करती है और रोग से जुड़ी मानव मन की वेदनाओं को भी व्यक्त करती है. मेरी साली साहिबा का कीमो कोर्स दो सप्ताह पूर्व ही समाप्त हुआ है और अब उन्हें रेडियो थिरैपी भी करानी होगी. सुनने में आया है कि शरीर में कैंसर बनने की प्रवृत्ति ऑपरेशन से काबू आ जाती है. कई लोग इसके लिए होमियोपैथी का फॉलोअप सजेस्ट करते हैं. गीता बहन के लिए शीघ्र स्वास्थ्य की शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  42. मधुर मुस्कान के साथ अपने बीमार को हौसला देती यह लेडी डाक्टर इस सफल ऑपरेशन की निश्चित हकदार हैं !

    ईश्वर से कामना है कि गीता जी जल्द ही स्वस्थ हों।
    पूर्ण स्वास्थ्य के लिये शुभ-कामनायें.

    ReplyDelete
  43. वैयक्तिक संवेदनाओं और भावों से संसिक्त पोस्ट .हिम्मते मर्दां मदद दे खुदा .गीता भाभी श्री और मिस्टर गीता को डेटरोइट के कोटिश :प्रणाम .शीघ्र स्वस्थ्य लाभ की कामना शुबेच्छा सहित .वीरू भाई
    ४३ ,३०९ ,सिल्वर वुड ड्राइव ,कैंटन ,मिशिगन ४८,१८८ ,यू एस ए .

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया वीरू भाई, एड्रेस देने का मतलब शाम की घर बुलावा मान लूं ??

      Delete
  44. वैयक्तिक संवेदनाओं और भावों से संसिक्त पोस्ट .हिम्मते मर्दां मदद दे खुदा .गीता भाभी श्री और मिस्टर गीता को डेटरोइट के कोटिश :प्रणाम .शीघ्र स्वस्थ्य लाभ की कामना शुबेच्छा सहित .वीरू भाई
    ४३ ,३०९ ,सिल्वर वुड ड्राइव ,कैंटन ,मिशिगन ४८,१८८ ,यू एस ए .

    ReplyDelete
  45. हरिदास जी और गीता जी से परिचित होकर अच्छा लग रहा है

    ReplyDelete
  46. हरिदास परिवार को शुभकामनाएं.... इश्वर गीता जी को जल्द स्वस्थ करें...

    डॉ गीता जैसे लोग है - दुनिया किसी न किसी आसरे पर टिकी हुई है..

    साधुवाद आपको आपकी संवेदनाओ के लिए.

    ReplyDelete
  47. ईश्वर,हरिदास परिवार,का हौंसला और मुस्कान यूँ ही बनाये रखे ....

    ReplyDelete
  48. एक बहुत ही करीबी मित्र इन दिनों इसी बीमारी के इलाज़ की रेडियो थेरेपी की प्रक्रिया से गुजर रही हैं . बहुत हिम्मत से इस बीमारी से लड़ते हुए हम सबके लिए आदर्श बन गयी हैं !
    गीता जी के साहस को नमन ...

    ReplyDelete
  49. गीता जी जल्द ही स्वस्थ हों. शुभकामनाएँ हरिदास परिवार को.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks from the whole family, madam

      Delete
  50. गीता जी और हरिदास जी शतायु हों, मेरी शुभकामनाएं उन तक पहुंचा दीजिए।

    ReplyDelete
  51. This very close Friend of mine is an example to me & others .... She held the same smile when i went to see her after hearing the biopsy report "positive". Her saying " Nothing will happen to me I am going to live more 20 plus years ".
    She looked more confident on the day of operation . Her positive attitude, her will power, her courage made every staff in hospital astonished. Just after few hours she never looked like she underwent a major operation on both breasts.
    I am very happy for geeta for her positive approach to fight it out. She is already a winner.

    ReplyDelete
  52. THANK YOU SATISHJI. ALL THE MEMBERS OF MY FAMILY ARE EXTREMELY GRATEFUL TO A TRUE FRIEND LIKE YOU. WE BELIEVE THAT ALL THESE BLESSINGS WILL KEEP HER SMILING FOR MANY MORE YEARS TO COME.

    ReplyDelete
  53. He Ganga maiya! Aj tere se maine kuchh nahi manga. too bus itna kar ki Satish bhaiya ki Gita Bhabi ko jaldi se svasth kar de. ve ta-umra Giita Bhabhi ke chehre par muskan dekhte rahen.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks from the whole family, Pandeji

      Delete
  54. हरिदास जी और गीता जी से परिचित होकर अच्छा लगा.
    गीता जी के सकारात्मक चिंतन और दृढ इच्छा शक्ति से
    प्रेरणा मिलती है.

    उनके शीघ्र पूर्ण स्वस्थ होने की मंगल कामना करता हूँ.
    वे और हरिदास जी ब्लॉग पर आकर अपने अनुभव
    और ज्ञान को हम सब के साथ शेयर करें तो ओर भी
    अच्छा लगेगा.

    सतीश भाई, आपको ऐसे अच्छे मित्रों के साथ के लिए बहुत बहुत बधाई.

    ReplyDelete
    Replies
    1. Rakeshji, Thanks to u from Haridas & family

      Delete
  55. I am the father-in-law of Harita (their daughter). I enjoyed Sathish's blog. It is simple, yet straight from the heart. Quite a few things I have observed myself. They are also fortunate to have 2 children, who are equally cheerful and affectionate. We wish them all the best, and Thank you Sathish for this blog. My family also thank them for giving us such a sweet daughter-in-law - Mohan, Thankam, Ashwin, Anish and Ankita

    ReplyDelete
    Replies
    1. Thanks a lot Mohan. We could not have thought of anything greater than this.

      Delete
  56. Thank you very much mohan !
    it is very pleasent to see your comment here, we already met during Harita-Ashwin reception at Mumbai.
    Don't worry for Geeta Haridas, We are there with them always ...

    ReplyDelete
  57. i'm sorry for the delay....
    but its never too late to give good wishes......

    may god bless u and ur friend...and doctor too....
    happiness always...
    regards
    anu

    ReplyDelete
  58. ऐसी ही बातें हमें हौसला देती हैं

    उनके शीघ्र पूर्ण स्वस्थ होने की मंगल कामना

    ReplyDelete
  59. कविता पढ़ी. अच्छी लगी. पिछले एक साल से हम भी झूझ रहे थे अपने दिल से.सबसे दूर होते चले गए. मन उचट गया.खुद को अपने बचपन के शौक गीतों,गज़लों में भूल दिया.जितनी तकलीफ बीमारी की नही थी उससे ज्यादा शोक्ड थे की यह सब हमे भी कभी हो सकता है. सोचा ही नही था.हरदम मस्त रहने वाली इंदु दिल की रोगी हो गई. तीन महीने में दो बार एंजियोप्लास्टी करवाई. तीसरी.......कभी भी.हाँ उधम-पट्टी कम नही हुई हमारी.अब लगातार चार घंटे डांस नही कर पाते पर १०-१०,१५-१५ तो करते ही है.
    तुमने हमे भूल दिया बबुआ! हम याद करते थे अपने सबको. पर लगा. सम्बन्ध कमेंट्स तक सिमित थे अधिकांश के.हा हा हा अपने स्वाभाव से मजबूर हैं हम. चाहकर भी अपनों को भूल नही पाते चाहे उनके हाथों आहत होते रहें बार बार. हा हा हा
    गीता भाभी स्वस्थ रहे. उन्हें इश्वर लंबी और स्वस्थ जिंदगी दे. दोनों हमेशा साथ रहें.अच्छे मित्र ईश्वर का दिया उपहार हैं जीवन में. उन्हें सहेज कर रखना चाहिए.:)
    कविता में कैसा दर्द होता है! हर बार. इस बार भी था हर कहीं.

    ReplyDelete
  60. सतीश भाई साहब को नमस्कार,
    आपके ब्लॉग को सबसे पहले खोला है, अपना ब्लॉग खोलने के बाद. .अभी नया हु , और इसमे बैठने की आदत नहीं है , हो जाऐगी आप जैसे भाइयो का आशीर्वाद रहा तो. सबसे पहले आपके गीतों को पढना शुरू किया, जैसे जैसे आगे पढता गया, आनंद का अनुभव करता गया अचानक आपके मित्र हरिदास जी की धर्मपत्नी और आपकी भाभी जी के बारे मे पढ़ा. वही पर रुक जाना पढ़ा. दुःख तो हुआ, पर साथ ही उनका मुस्कुराता चेहरा देखकर सुखद लगा. अब वो बिलकुल स्वस्थ हो चुकी होंगी ऐसा मे समझता हु. आपके प्रेम और आप लोगो की दोस्ती से अभिभूत हु. आपका प्रेम बना रहे, इस आशा के साथ. आपका छोटा भाई.

    ReplyDelete
    Replies
    1. प्रिसिपल सर !
      मैं खुशनसीब हूँ कि आप जैसा प्यारा मित्र मिला..
      आभार !

      Delete
  61. गीता भाभी जल्दी ही स्वास्थ्य लाभ करें और हंसी खुशी अपना जीवन बितायें ।

    ReplyDelete
  62. पूर्ण स्वस्थ हो और यह मुस्कान और खिले...
    यही कामना है..
    :-)

    ReplyDelete

एक निवेदन !
आपके दिए गए कमेंट्स बेहद महत्वपूर्ण हो सकते हैं, कई बार पोस्ट से बेहतर जागरूक पाठकों के कमेंट्स लगते हैं,प्रतिक्रिया देते समय कृपया ध्यान रखें कि जो आप लिख रहे हैं, उसमें बेहद शक्ति होती है,लोग अपनी अपनी श्रद्धा अनुसार पढेंगे, और तदनुसार आचरण भी कर सकते हैं , अतः आवश्यकता है कि आप नाज़ुक विषयों पर, प्रतिक्रिया देते समय, लेखन को पढ़ अवश्य लें और आपकी प्रतिक्रिया समाज व देश के लिए ईमानदार हो, यही आशा है !


- सतीश सक्सेना

Related Posts Plugin for Blogger,