Thursday, July 26, 2012

ब्लागर साथियों से हर संभव मदद चाहिए -सतीश सक्सेना

अपील 
मैं दर्द लेके दुखी हूँ, मगर पता है मुझे
मेरा ख़याल, उन्हें भी खुशी नहीं देता !


उपरोक्त शब्द, बेहद संवेदनशील शायर सर्वत जमाल  (09696318229) के हैं , जो कि १४ जुलाई से घर से लापता हैं ! उनकी  पत्नी श्री मती अलका सर्वत  (09889478084)से बात करने पर पता चला है कि वे १४ जुलाई को लखनऊ से बनारस के लिए ट्रेन द्वारा रवाना हुए थे, तबसे उनका मोबाइल स्विच ऑफ़ है ! 
अलका जी ने उनके लापता होने की सूचना पुलिस में दे दी है , मगर अब तक उनका कुछ पता नहीं चल पाया है ! आप सबसे, खास तौर पर लखनऊ एवं वाराणसी स्थिति लेखक ब्लोगर्स समुदाय से, आग्रह व अनुरोध है कि  इस बेहद भले और शानदार गज़लकार  को, तलाश करने में, अपनी शक्ति और व्यक्तिगत प्रभाव का उपयोग देने की कृपा करें ! मुझे विश्वास है कि अगर लखनऊ पुलिस एवं सर्वत जमाल साहब के मित्रों से संपर्क किया जाए तो सफलता मिलने की उम्मीद है  !
उनसे मेरी पहली और आखिरी मुलाक़ात अजय कुमार झा द्वारा बुलाए गए एक ब्लोगर सम्मलेन में, दिल्ली में हुई थी, उसके बाद कभी नहीं मिल पाए ! उनका यह शेर पढते हुए दिल में गलत आशंकाये जन्म ले रही हैं , इस भले इंसान की , इंसानियत  के लिए , अभी बेहद जरूरत है !
रोटी, लिबास और मकानों से कट गए
हम सीधे सादे लोग सयानों से कट गए

जंगल में बस्तियों का सबब हमसे पूछिए
जंगल के पहरेदार मचानों से कट गए
बुजदिल कहूं उन्हें कि शहीदों में जोड़ लूँ
वो आदमी जो ठौर ठिकानों से कट गए 

मैं चिंतित हूँ उनके लिए क्योंकि वे बहुत संवेदनशील व्यक्ति हैं, ऐसे लोग समाज की कठोर चोटें, आसानी से झेल नहीं पाते  ...
आप अगर मर्द हैं तो खुश मत हों 
काम  आती  है,  सिर्फ़ नामर्दी  !

उनके एक एक शेर को अगर विस्तार दिया जाए तो पूरी किताब लिखी जा सकती , उनकी संवेदनशीलता, उनकी रचनाओं में ,हर जगह स्पष्ट झलकती नज़र आती है !
सदियाँ गुज़री लेकिन तुमको दहशत 
में, हर लंगड़ा , तैमूर दिखाई देता है !
धोखा पहले पाप बताया जाता था 
लेकिन अब दस्तूर दिखाई देता है !



वे इंसानियत में, कम होते स्नेह और प्यार पर अक्सर लिखते रहे हैं, जीवन में अगर अपनों पर विश्वास न करें तो कहाँ जाएँ ...इंसान पर उनका अविश्वास देखिये ..
इस तरफ आदमी, उधर कुत्ता ,
बोलिए, किस को सावधान करें!


एक और मिसाल आज के समय का उसूल यही है शायद ...
पास रख्खोगे तो जिल्लत पाओगे 
यार इस ईमान का सौदा करो !  

आशा है आप लोग व्यक्तिगत प्रभाव का उपयोग करते हुए लखनऊ पुलिस पर दवाब बना कर उन्हें तलाश करवाने में अपना सहयोग करेंगे ! इस मामले में ( https://www.facebook.com/alka.s.mishra )  इंदिरा नगर थाने, लखनऊ में  रिपोर्ट दर्ज करवा दी गयी है !
( सर्वत जमाल  के अचानक गायब होने के बारे में खबर है कि वे अपने घर से मनमुटाव के कारण घर से गायब थे , कृपया इस सम्बन्ध में, अब आगे, यहाँ कोई कमेन्ट न करें  )


80 comments:

  1. रेलवे पुलिस से भी संपर्क किया जा सकता है ...हो सकता है ट्रेन में तबियत खराब होने से किसी अस्पताल में एडमिट किया हो....आस बंधी रहे बस....कविवर जरूर मिल जायेंगे.
    सादर
    अनु

    ReplyDelete
  2. दुःख हुआ उनके बारे में जानकर !

    ऐसे जिंदादिल शायर के लिए दुआएँ .जिस साथी को कोई खबर मिले ,ज़रूर बताएं !

    ReplyDelete
  3. सीधे सादे इन्सान का गायब होना आम हो गया है,
    जानता नहीं हुक्काम कि कितना बदनाम हो गया है।

    ReplyDelete
  4. satish ji
    check the facebook of Sarwat Jamal There is a entry for July 20th
    I am suprised to see the entry . You can contact the police and inform the same and they can work out from where he logged in after taking the relevent info from facebook
    I may be mistaken but can also see this here http://www.facebook.com/notes/sarwat-jamal/%E0%A4%9C%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%AE%E0%A4%A6%E0%A4%BF%E0%A4%A8/498693273481268

    ReplyDelete
    Replies
    1. चूंकि मैं फेसबुक पर सर्वत जमाल का मित्र नहीं हूँ अतः मैं खुद यह कमेन्ट नहीं देख सकता और न ही कमेन्ट कर सकता हूँ तथापि आपके द्वारा दिए लिंक से साफ़ है कि उन्होंने अथवा किसी और ने उनकी तरफ से बेटी को मुबारक बाद दी है ! हर हालत में उनका स्पष्टीकरण सभी को मिलना चाहिए तभी उनके गायब होने के बारे में कुछ संतुष्टि होगी तब तक तो हमें प्रयासरत रहना ही चाहिए !

      आपका आभार !

      Delete
    2. i am not on facebook at all but i cliked on the link of his provided by u and there i saw his name and when i clicked that i could see the post inspite of not even being the member of facebook

      Delete
    3. उनकी इस टिप्पणी में आशा की किरण दिख रही है। भगवान करे वे सकुशल हों!

      Delete
  5. दुखद समाचार.
    दुआ है अलका जी को और मायूस न होना पड़े.

    ReplyDelete
  6. अनवर जमाल साहब सच में संवेदनशील इंसान हैं ... उनकी सलामती की दुआ करता हूँ ... आशा है जल्दी ही उनका पता मिलेगा ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. सर्वत जमाल साहब सच में संवेदनशील इंसान हैं।

      Delete
  7. ईश्वर करें वो सकुशल हों और जल्दी घर वापस आ जायं !

    ReplyDelete
  8. बिछुड़े परिंदे, वापस अपने घोंसले में आए....
    येही दुआ है मेरी !

    ReplyDelete
  9. वे जल्द लौटें इसके लिए ईश्वर से प्रार्थना है और उनके सेहतमंद होने की कामना है.

    ReplyDelete
  10. ईश्वर उनको सकुशल मिलवादे, यही शुभकामनाएं हैं.

    रामराम.

    ReplyDelete
  11. सभी ब्लागर बंधुओं से अपील है कि अपने प्रभाव का उपयोग कर इस संबंध में मदद करें. अवश्य सब ठीक होगा.

    रामराम

    ReplyDelete
  12. इस बहादुर शायर के लिए

    हमारी दुवाएं-

    भगवान् उन्हें सही सलामत मिलाये ।।

    ReplyDelete
  13. बहुत चिंताज़नक !
    आशा है --जल्दी ही सकुशल मिल जायेंगे .

    ReplyDelete
  14. यह तो बहुत दुखद खबर है। सर्वत साहब से 'साखी' ब्‍लाग पर चर्चा होती रही है। वे बहुत काबिल शायर और जिंदादिल इंसान हैं। हम सब उम्‍मीद करें कि वे कुशल हों।

    ReplyDelete
  15. ओह ..दुःख का समाचार है ..परन्तु उम्मीद बंधी रहे अवश्य मिल जायेंगे. दुआ है.

    ReplyDelete
  16. ...कई बार खुद ही मनुष्य समाज से दूर रह कर एकांत में कुछ समय बिताना चाहता है!...आशा है कि शायर सर्वत जमाल जी स्वयं ही अपने क्षेम कुशल होने की खबर घर वालों को देंगे!...पुलिस को सूचित किया गया यह अच्छा है...पुलिस अपना काम बखूबी करेगी!...अच्छी खबर मिलने की आशा करतें है!

    ReplyDelete
  17. बस जल्दी मिल जायें यही प्रार्थना है भगवान से ।

    ReplyDelete
  18. उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवार के चर्चा मंच पर ।।

    ReplyDelete
  19. सतीश भाई ,
    रचना जी की खबर पे गौर किया जाये !

    ReplyDelete
  20. bahut dukh hua padh kar ...asha karte hai jaldi mil jayen...!!

    ReplyDelete
  21. ओह दुखद! मगर उन्होंने २० जुलाई को फेसबुक अपडेट किया है और अपनी बिटिया के पहले जन्मदिन पर लोगों की दुआ माँगी है ..इसका अर्थ है वे अपने मन से ही कहीं गए हैं ..आशा करता हूँ लौट आयेगें !

    ReplyDelete
  22. जिनके आप जैसे दोस्त हों और ब्लॉग-जगत जैसा परिवार ,
    उनको कुछ नहीं हो सकता सर

    ReplyDelete
  23. सर्वत जमाल साहब की शायरी क्या खूब है। पहली बार आपके ब्लाॅग पर उन्हें पढ़ा लेकिन इस दुखद खबर के साथ कि वे लापता हैं। मैं दुआ करता हूं कि वे जहां भी हो कुशल हों और बहुत जल्द अपने परिवार और दोस्तों के पास लौट आएं। अदब को ऐसे शायरों की बहुत जरूरत है। आपसे गुजारिश है अगर आप उनकी कुछ गजलें पढ़वा सकें तो मेहरबानी होगी। मुझे अपना नया दोस्त ही समझें।
    नरेंद्र मौर्य

    ReplyDelete
    Replies
    1. उनकी ग़ज़ल पढने के लिए इसी पोस्ट पर मैंने उनके लिंक दे रखे हैं ! आप वहां पढ़ सकते हैं !

      आभार !

      Delete
  24. सर्वत जमाल साहब की शायरी क्या खूब है। पहली बार आपके ब्लाॅग पर उन्हें पढ़ा लेकिन इस दुखद खबर के साथ कि वे लापता हैं। मैं दुआ करता हूं कि वे जहां भी हो कुशल हों और बहुत जल्द अपने परिवार और दोस्तों के पास लौट आएं। अदब को ऐसे शायरों की बहुत जरूरत है। आपसे गुजारिश है अगर आप उनकी कुछ गजलें पढ़वा सकें तो मेहरबानी होगी। मुझे अपना नया दोस्त ही समझें।
    नरेंद्र मौर्य

    ReplyDelete
  25. सब ठीक ही रहेगा।

    ReplyDelete
  26. सलामती की दुआ .

    ReplyDelete
  27. आशा और दुआ भी कि सब ठीक ठाक हो|

    ReplyDelete
  28. ओह , उनसे मेरी भी मुलाकात वही मुलाकात है सतीश भाई । महफ़ूज़ अली जी के स्टेटस से पता चला था कि वे गुमशुदा हैं । चिंताजनक बात है ये , जल्दी ही उनकी खबर मिलनी चाहिए सभी स्थानीय मित्रों से इस दिशा में सहयोग की अपेक्षा रहेगी ।

    ReplyDelete
  29. उनके सुरक्षित होने की कामना है।
    नजदीकी क्षेत्र के मित्रगण सहयोग करे।
    अल्का जी से निवेदन शान्तचित्त्त से खोज खबर लें।
    सतीश जी, अवगत करवाते रहें।

    ReplyDelete
  30. भोलेनाथ सब भला करेंगे। वैसे रचना जी के कमेंट पर आपने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी!

    ReplyDelete
    Replies
    1. मैं नेट से दूर था अतः अब जवाब दे दिया है ...

      Delete
  31. अब शुरू हुई है इंसानियत की बातें ब्लॉग पर सही मायनों में मुझे विश्वास है भाई साहब समय पर सुरक्षित घर लौट आयेंगे ...

    ReplyDelete
  32. कृपया उन अधिकारियों के नाम और ई-मेल पते उपलब्‍ध कराऍं जिन्‍हें, लखनऊ से सैंकडों मील दूर बैठे मुझ जैसे लोग सन्‍देश भेज कर इस नेक अीिसयान का हिस्‍सा बन सकें।

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया भाई जी,

      नेट पर जो एड्रेस उपलब्ध हैं वे इस जगह हैं ...

      http://uppolice.up.nic.in/contactus.html

      Delete
    2. अभी अलका जी से बात हुई है वो बहुत दुखी हैं, कृप्या उन्हें आप एकबार अवश्य फोन करके विश्वास दिलायें कि आप उनके साथ हैं, यदि आपके सम्बंधी पुलिस विभाग में हैं तो मदद के लिए आगे आयें।

      Delete
  33. जल्दी मिल जायें यही प्रार्थना है भगवान से ........

    ReplyDelete
  34. मुझे पूरी आशा है कि वे सकुशल होंगे और शीघ्र अपने प्रियजनों के पास लौट आयेंगे !

    ReplyDelete
  35. ईश्वर से प्रार्थना है..वे सकुशल घर वापस लौट आएँ..

    ReplyDelete
  36. ईश्वर से प्रार्थना है,कि जहाँ भी हों सकुशल घर लौट आए,,,,,

    RECENT POST,,,इन्तजार,,,

    ReplyDelete
  37. हाँ मैंने फेसबुक पर पढी थी ये खबर. अभी तक उनका न लौटना चिंता जनक है. हो सकता है नाराज़ हो के कहीं चले गए हों, गुस्सा ठंडा होने पर लौट आयेंगे. उम्मीद तो हमें रखनी ही है.

    ReplyDelete
  38. सर्वज जी की सलामती की दुआ करता हूं।

    ReplyDelete
  39. पूरा विश्वास है जहाँ भी हैं, वो सलामत हैं..

    ReplyDelete
  40. अत्यंत चिन्ताजनक. जमाल साहब जल्द सकुशल वापस पहुंचे.

    ReplyDelete
  41. सरवत जमाल जी की सलामती के लिये दुआ करेंगे !

    ReplyDelete
  42. प्रार्थना है..वे सकुशल घर वापस लौट आएँ..!!

    ReplyDelete
  43. पहली बार पढ़ा इनको और बहुत प्रभावित हुआ..
    भगवान करे वो जल्द स्वस्थ-सकुशल घर लौटें..

    ReplyDelete
  44. ईश्वर सब मंगलमय रखे

    ReplyDelete
  45. बेहद दुखद है यह, फेसबुक महफूज़ की वाल पर पता चला था इसके बारे में... हम सब को मिलकर ज्यादा से ज्यादा कोशिशें करने की ज़रूरत है...

    ReplyDelete
  46. जानकर बहुत आश्चर्य के साथ ही दुःख हुआ !
    दुआ है कि सर्वत जमाल जी जल्दी घर वापस आयें !

    ReplyDelete
  47. भगवान् से जमाल जी की सकुशल वापसी की दुआ करते हैं

    ReplyDelete
  48. उनकी शायरी बयां करती हैं कि इस सचाई को उन्होंने जिया होगा। आशा है कि वो वापस आएं और अपने गजल के गुलिस्तां को फिर गुलजार करें।

    ReplyDelete
  49. ishwar kare we sakushal laut aaye . rachna ji ki bat par dobar gaur kare.

    ReplyDelete
  50. चिन्ता हुई उनके बारे में जानकर....
    वे सकुशल घर पहुंच जाएं यही प्रार्थना है ईश्वर से....

    ReplyDelete
  51. बहुत अफ़सोस और चिंता की बात है.
    कामना है कि वे जल्द ही घर लौट
    आयें.

    ReplyDelete
  52. badi dukhad samay hai unki patni aur gharwalon ke liye bhagwaan kare ve sighra ghar laut aayen...

    ReplyDelete
  53. यह समाचार आज पढ़ा ... दुखद ... कामना कर रही हूँ कि अब तक वो घर लौट आए हों ...

    ReplyDelete
  54. दुखद समाचार
    कामना है कि वे जल्द ही घर लौट
    आयें.

    ReplyDelete
  55. ईश्वर करे सब कुशल हो !

    ReplyDelete
  56. ईश्वर करे कि उनकी कोई सूचना मिल जाये..

    ReplyDelete
  57. वे सकुशल लौटें यही कामना है |

    ReplyDelete
  58. अभी तक नहीं लौटे! अनहोनी की आशंका स्वाभाविक है। खुदा खैर करे।

    ReplyDelete
  59. हे, ईश्वर ! इतने निष्ठुर मत हो | मदद करो उस परिवार की |

    ReplyDelete
  60. ईश्वर से प्रार्थना है, सरवत साहब जल्द घर लौटें।

    ReplyDelete
  61. उनकी खूबसूरत शायरी उनके खयालात को बयां करती है । जल्दी लोट आिये सर्वत जमाल साहब । अलका जी के साथ हम सब भी चिंतित हैं ।

    ReplyDelete
  62. आज यहाँ यह देखने आई थी कि जनाब सर्वत जी का कुछ पता चला या नहीं .
    लेकिन अब समझ आया कि सारा मामला क्या है..सतीश जी ने पोस्ट लिखी है...सब दौड़े आये..अपना वास्ता लगाया...चिंता की .... तो मिस्टर सर्वत और अलका कम से कम जानकारी को अपडेट कर के बताते कि क्या हुआ.-यह उनकी भी एक नैतिक जिम्मेदारी बनती है ..अलका सर्वत ने पोस्ट भी नयी डाली है एक पंक्ति ही लिखती कि सब ठीक है .पारिवारिक मामला है ..कोई प्रश्न नहीं करता कि क्या हुआ था!
    .देखीये आशा जी भी आज अपनी दुआ दे गयीं हैं.वे अभी तक चिंतित हैं,
    --
    जानते हैं ..जिस दिन मैंने अपने एक दोस्त को यह चिंता जताई कि देखें आप कुछ कर सकते हैं तो..तब उन्होंने छूटते ही कहा था ..ज़रूर अपनी दूसरी बीवी के पास गया होगा..तुम ब्लोगेरों को कुछ काम नहीं है क्या--बिना तहकीकात किये रोने -धोने लगते हो--
    मुझे यह बात सुनकर बहुत खराब लगा था ..लेकिन आज जब सच खुला देखा तो आश्चर्य हुआ कि कितनी सच बात कही थी !
    ................
    दुःख हुआ कि किस तरह अलका कह रही हैं कि अगर यह प्रेम /शादी नाटक था तो चलने दें..घर जायदाद बेच दी ..बर्बाद कर दिया ...अकेला कर दिया..अब भी ऐसे आदमी से सहानुभूति या प्रेम??जब कि वे अपना खर्चा खुद उठाती रही हैं ..धन्य हो नारी तुम!!
    ...http://www.yugjamana.org/2012/08/blog-post_7797.html

    ReplyDelete
    Replies
    1. पारिवारिक झगडों में कैसे कहें कि कौन ठीक है, कौन गलत ...
      यह फैसला देने का अधिकार कम से कम हम अटकलें लगाने वालों का नहीं होना चाहिए !
      आभार आपका !

      Delete
    2. मेरा यह कहना है कि उन दोनों में से किसी को या आप को इस जानकारी को अपडेट कर देना चाहिए था.कि वे मिल गए.

      -दूसरे जब यह सार्वजानिक मंच पर जब यह बात आ ही गई है ,उस लिंक पर ही विस्तार से है.. चर्चा उठी है तो बहस होगी और लोग अपनी राय रखेंगे ही.
      आभार

      Delete
    3. @सतीश जी ,एक बात और .. मैं ने कहीं भी कोई 'अटकल' नहीं लगायी है...जो इस लिंक पर खबरछपी है ..अलका का पुलिस को दिया बयान है वही यहाँ लिखा है..और उस बयान पर उनके प्रति अपनी बात कही है .कि अब भि वे ऐसे इंसान के प्रति सहनुभूति और प्रेम रखती हैं?धन्य हैं!
      ...
      कौन गलत है कौन सही ये मैं ने कहीं भी नहीं लिखा.
      ...

      Delete
  63. @ अल्पना वर्मा ,
    मैं आपसे सहमत हूँ अल्पना जी, अटकलें शब्द आपके लिए नहीं लिखा गया था !
    सादर !

    ReplyDelete
Related Posts Plugin for Blogger,