Friday, March 23, 2018

सिंपल ट्रथ : शुगर किल्स -सतीश सक्सेना

कल मॉल में घूमते हुए एक नौजवानों के ग्रुप को देखा सबके हाथ में एक मशहूर ब्रांड ऑरेंज जूस का एक बड़ा गिलास था और उनमें कोई भी मित्र 90 kg से कम नहीं था !
मुझे आश्चर्य है कि बहुत कम लोग जानते हैं कि इंसानों के भोजन में शुगर का कोई उपयोग नहीं और एक मजबूत व्यक्ति रोज सिर्फ 24 ग्राम शुगर ही बिना नुकसान सहन कर सकता है , मगर लोग रोज, मस्ती के साथ एवरेज 100 ग्राम शुगर आराम से खाते हैं जो कि पुरुषों के लिए सामान्य से चार गुनी है और महिलाओं के लिए 6 गुनी !
आज हर चौथा वयस्क भारतीय,चाहे वह मोटा हो या पतला, हृदय रोगी है और उसे यह पता ही नहीं ,ऐसे लोगों की पहचान करनी हो तो 10 सीढ़ियां चढ़ने के बाद,हांफते, रुकते लोगों को देख लीजिये और
मजेदारी यह कि यह सब संपन्न व्यक्ति, बाजार आकर, अपनी सेहत के लिए जूस अवश्य पीते हैं !
शायद आपको यह पता ही नहीं होगा कि बढे हुए बीपी एवं कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों के लिए शुगर , नमक खाने से अधिक हानिकारक है !
किसी जमाने में खाते पीते सतीश को देखिये, फोटो में तोंद को छिपाने के लिए जैकेट पहनता था  अगर आप अब भी सावधान न हुए तो आपको सस्नेह मंगलकामनाएं ही दे सकता हूँ कि आपको असामयिक हृदय स्ट्रोक न आये !

4 comments:

  1. सटीक बात। कुछ भी अगर सीमा से अधिक है तो अहित करता है।

    ReplyDelete
  2. ऐसे ही प्रेरित करते रहिये। पाठकों पर असर अवस्य पड़ेगा

    ReplyDelete
  3. आज सलिल वर्मा जी ले कर आयें हैं ब्लॉग बुलेटिन की २०००वीं बुलेटिन अपने ही अलग अंदाज़ में ... तो पढ़ना न भूलें ...


    ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन, संगीत और तनाव मुक्ति - 2000वीं ब्लॉग बुलेटिन “ , मे आप की पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  4. सटीक और सामयोक भी ...
    सुगर जैसे जैसे बढ़ रहा है ... मोटापा भी ... और बीमारियाँ भी ...
    अच्छा जागरूक करता आलेख है ...

    ReplyDelete

एक निवेदन !
आपके दिए गए कमेंट्स बेहद महत्वपूर्ण हो सकते हैं, कई बार पोस्ट से बेहतर जागरूक पाठकों के कमेंट्स लगते हैं,प्रतिक्रिया देते समय कृपया ध्यान रखें कि जो आप लिख रहे हैं, उसमें बेहद शक्ति होती है,लोग अपनी अपनी श्रद्धा अनुसार पढेंगे, और तदनुसार आचरण भी कर सकते हैं , अतः आवश्यकता है कि आप नाज़ुक विषयों पर, प्रतिक्रिया देते समय, लेखन को पढ़ अवश्य लें और आपकी प्रतिक्रिया समाज व देश के लिए ईमानदार हो, यही आशा है !


- सतीश सक्सेना

Related Posts Plugin for Blogger,